Skip Navigation Links
Banner

WORD OF THE DAY


Monday 23 May 2022 To suffer from those who think in a worldly way is natural consequence of being disciples of Jesus. (Jn 15:26-16:4)

सांसारिक दृष्टि से सोचने वालो के हाथों यातना सहना येसु के अनुयायियो के लिए स्वाभाविक है l

Tuesday 24 May 2022 Holy Spirit gives us grace to be aware of our sinful ways and to depend on God so that we can live a holy life. (Jn 16:5-11)

पवित्र आत्मा हमें गलत रास्तों के प्रति सचेत करने और ईश्वर पर आश्रित होने की आशीष देता है ताकि हम पवित्र जीवन जी सकें l

Wednesday 25 May 2022 Let us listen to the Spirit in our heart who will lead us to the truth. (Jn 16:12-15)

आईये हम पवित्र आत्मा की सुनें जो हमारे दिल में है, वही हमें सत्य की ओर ले जायेगा l

Thursday 26 May 2022 For those who believe, suffering is for a little while because their sorrow turns into joy.(Jn 16:16-20)

जो विश्वास करते हैं उनके लिए दुःख कुछ पलों का होता है क्योंकि उनका दुःख सुख में बदल जाता है l

Friday 27 May 2022 "I will turn your sorrow into joy." The Lord gives meaning to our life in spite of all suffering. (Jn 16:20-23)

"मैं तुम्हारा दुख सुख में बदल दूँगा l" दुख होने के बावजूद भी प्रभु येसु हमारे जीवन को एक अर्थ देते हैं l



pompy wtryskowe|cheap huarache shoes| bombas inyeccion|cheap jordans|cheap air max| cheap sneakers|wholesale jordans|cheap china jordans|cheap wholesale jordans