Skip Navigation Links
Banner

WORD OF THE DAY


Monday 11 January 2021 Jesus calls each of us for his mission to bring people closer to God....but first we need to be close to him. (Mk 1:14-20)

सब लोगों को प्रभु के करीब लाने के मिशन पर प्रभु येसु हमें बुलाता है पर उससे पहले हमें उनके करीब आने की जरूरत है l

Tuesday 12 January 2021 Jesus' mission is to reconnect people to God while himself being connected to him. Thus he teaches with authority and cures the man. We too are called to share the same mission. (Mk 1:21-28)

प्रभु येसु का मिशन था पिता से जुड़े रहते हुए सभी को अपने पिता से जोड़ना l इसी कारण वे अधिकार से शिक्षा देते हैं और सभी को चंगा करते हैं l हमें भी प्रभु के इसी मिशन से जुड़ने के लिए बुलाया गया है l

Wednesday 13 January 2021 In spite of healing and curing the multitudes, Jesus found time to pray. We too need to find time for God in our busy schedule. (Mk 1:29-39)

असंख्य लोगों को चंगा करने के. बावजूद प्रभु येसु प्रार्थना के लिए समय निकलते हैं l हमें भी अपने व्यस्तता के बीच ईश्वर के लिए समय निकालने की जरूरत है l

Thursday 14 January 2021 The Good news received compels the receiver to proclaim. That is what we find in the leper who was cured by Jesus. We to have received the Good news in manifolds. Are we compelled to proclaim it? (Mk 1:40-45)

सुसमाचार पाकर पानेवाला उसकी घोषणा करने के लिए बाध्य हो जाता है l यही बात हम उस कोढ़ी में देखते हैं जिसे प्रभु ने चंगा किया था l हमें भी सुसमाचार मिला है, क्या हम उसकी घोषणा के लिए बाध्य होते हैं?

Friday 15 January 2021 Sometimes the faith of others is needed to move us onward when we are weak and unable to move just like the paralyzed man. (Mk 2:1-12)

कभी कभी आगे बढ़ने के लिए दूसरों के विश्वास की जरूरत पड़ती है, विशेषकर तब जब हम उस लकवाग्रस्त रोगी के समान कमजोर पड़ जाते हैं l

Saturday 16 January 2021 Jesus is calling us to follow him. Let us listen to his voice and like Levi give up all our attachments and follow him. (Mk 2:13-17)

येसु बुलाते हैं 'मेरा अनुसरण करो' l आईये हम उनकी आवाज़ सुनें और अपने सभी सांसारिक बंधनों को त्यागकर उस नाकेदार की तरह येसु के पीछे हो लें l

Sunday 17 January 2021 We too like the disciples, are called to stay with Jesus a to experience and proclaim him as our Messiah. (Jn 1:35-42)

शिष्यो की तरह हम भी प्रभु येसु का अनुभव और उनकी घोषना करने के लिए उनके साथ रहने के लिए बुलाये गये हैं l

Monday 18 January 2021 When the Lord is with us, it is time to celebrate. Let us look for him with prayer and fasting when we are away from him. (Mk 2:18-22)

जब प्रभु हमारे साथ है तो यह आनंद मनाने का समय है l जब हम उनसे दूर हैं तो हमें उन्हें प्रार्थना और उपवास के जरिए खोजने की जरूरत है l